बुधवार, 6 मई 2009

कर्म का महत्व

रुको नहीं, थको नहीं,
रुकना नहीं कर्म है,
थकना नहीं धर्म है

चलते रहो चलते रहो,
चलना हीं तो कर्म है



रवि रुक जाये अगर,
प्रकृति में हो जाये प्रलय

चाहते हो अगर जीतना तो,
समझो कर्म के महत्व को



कर्म हीं है जिन्दगी,
मानवता कर्म है,
मातृत्व हीं तो कर्म है,
भक्तित्व हीं तो कर्म है



कर्म से डरो नहीं,
कर्म से भागो नहीं,
कर्म तुम्हें पहुँचायेगा,
परम लक्ष्य की सीमा तक



सत्य है असत्य है,
सत्य को चुन लो तुम,
सत्य को थामे रहो,
कर्म हीं पहुँचायेगा तुम्हें,
सत्य की राह पर



अराधना हीं कर्म है,
साधना हीं कर्म है,
पवित्र मन, सत्य वचन,
सच्ची श्रद्धा,हृदय से निष्ठा,
कर्म का मूलमंत्र है


कर्म देश भक्ति है,
कर्म हीं तो शक्ति है,
कर्म का भविष्य है,
निश्वार्थ भाव से,
कर्म करो,कर्म करो


(20 जुलाई 1999)




15 टिप्‍पणियां:

  1. उत्प्रेरक है या कविता, बहुत ख़ूब

    ---
    चाँद, बादल और शाम

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत सुन्दर , सचमुच कर्म ही भक्ति है |

    उत्तर देंहटाएं
  3. वीर तुम बढ़े चलो, धीर तुम बढ़े चलो ... ... .

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत बढ़िया।
    घुघूती बासूती

    उत्तर देंहटाएं
  5. बहुत बहुत शुक्रिया आपके सुंदर टिपण्णी के लिए!
    बहुत ही शानदार लिखा है आपने कर्म के बारे में !

    उत्तर देंहटाएं
  6. कर्म आधारित आपकी ये प्रेरणादायक रचना बहुत ही सुन्दर लगी.........आभार

    उत्तर देंहटाएं
  7. रुको नहीं, थको नहीं,
    रुकना नहीं कर्म है,
    थकना नहीं धर्म है।
    चलते रहो चलते रहो,
    चलना हीं तो कर्म है।
    बहुत ही शानदार ....

    उत्तर देंहटाएं
  8. बहुत बढ़िया। बहुत प्रेरणादायी है.

    उत्तर देंहटाएं
  9. बहुत सुंदर एवं प्रेरणादायक रचना लिखी है आपने कर्म की महत्ता पर|
    समस्त संसार एवं जीव चलते हैं इस कर्म की ही सत्ता पर ||
    और जहाँ तक रही बात रोटियाँ बनाने के कर्म की तो मेरा हाल भी कुछ आपके ही जैसा है. बहुत कम रोटियाँ ही गोल बन पाती हैं. लेकिन कभी तो वो दिन आएगा इसी उम्मीद में कर्म कर रहा हूँ.
    हमसफ़र यादों का.......

    उत्तर देंहटाएं
  10. sahi likha hai karm par hi hamara adhikaar hai, bahut achhi rachna hai :)

    उत्तर देंहटाएं
  11. karm karein karte rahein yahi ekmatra sach hai. jo is bat ko samajhta hai vahi chalta hai baki baith jate hain

    उत्तर देंहटाएं
  12. बेहद एनकरेजिंग कविता है. पढ़ कर मन खुश हो गया.

    उत्तर देंहटाएं

LinkWithin

Related Posts with Thumbnails